Update

Sunday, April 14, 2019

Understand what life wants to Teach you

जिंदगी हर कदम हमे कुछ ना कुछ तो जरूर सिखाती रहती है, हम ज्यादा तर यह समझ नहीं पाते। और इसी वजह से हम वही गलतिया बार बार करते रहते है. उससे हमे नुकसान और हानि पहोचती रहती है, इस दुनिया में जीते हुए हम अपनी दुनिया खुद बनाते है.  आप हमेशा अगर खुद के अनुभव से ही सीखते रहेंगे तो आपको यह जीवन कम पड जायेगा. इसीलिए अपने से अनुभवी लोगो से सलाह लेना जरुरी है, उनकी राय लेकर निर्णय लेना उचित होता है. हमे दुसरो के जीवन से, आसपास की घटनाओ से, इतिहास से बहोत कुछ सीखना चाहिए। और अपने आप को सशक्त बनाना चाहिए.

निचे लिखे गए सूचनाओं से आपको आपके जीवन में निर्णय लेने के लिए सहायता मिलेगी, आप इसे पढ़े और अमल में लाये:

understand-what-life-want-to-teach-you

१- कोई भी व्यवहार करते वक़्त सजगता से और अपने सूझ-बुझ से व्यवहार करे. व्यवहार करते वक़्त बहोत सीधे या भोले ना रहे. कोई भी व्यवहार करते वक़्त उसके बारे में पूरी जानकारी रखे. भोलेपन से अगर आप व्यवहार करते है तो आपको, आपके परिवार को बहोत हानि हो  सकती है. गलत व्यवहार करने से आपको आर्थिक नुकसान हो सकता है. इसीलिए हमेशा व्यवहार सोच-समझकर ही करने चाहिए. जंगल में हमेशा सीधे पेड़ जल्दी काट दिए जाते है, और टेढ़े, आड़े तिरछे पेड़ वही खड़े रहते है. इससे सिख ले, और व्यवहार में चतुर रहे. आकलन करके व्यवहार करना हमेशा आपको लाभ ही देगा.

२- किसी भी व्यक्ति को कोई भी आर्थिक व्यवहार करने के वक़्त, ज्ञान अर्जन करने के समय और अपना काम -धंदा करने के समय शर्माना नहीं चाहिए. अपने  व्यवहार करते वक़्त अगर आप हिचकिचा जाते है तो आपको इससे हानि हो सकती है. अगर आप अपना पक्ष रखने में असमर्थ रहे तो व्यवहार गलत हो सकता है. इससे आपको नुकसान का सामना करना पड सकता है. ज्ञान लेना अनिवार्य है, इससे आपको फैसला लेने में सहायता मिलती है.  इसलिए ज्ञान  अर्जित करते समय कभी भी शर्मिंदगी महसूस न करे. अगर कोई बात न समझे तो प्रश्न पूछने के लिए शर्मिदगी महसूस कभी न करे, अगर आप शर्मिदगी महसूस करोगे तो शायद आप जिंदगी भर  उलझन में ही फसे रहेंगे। इसिलए अगर जीवन में सुखी होना है तो बिना हिचकिचाहट के आत्मविश्वास से जीवन में आगे बढे. 

३- जीवन में सबकुछ दुनिया के सामने उजागर करना उचित नहीं है. आपको अपने रहस्य किसी को नहीं बताने चाहिए.  कोई भी व्यक्ति जो आज आपका बहोत ही अच्छा दोस्त है, उसके साथ आपके रिश्ते बिगड़ भी सकते है. और ऐसा होने पर वह आपके सारे राज / रहस्य उजागर करके आपको और आपके परिवार को बदनाम कर सकता है. इससे आपको, आपके परिवार के रिश्तो को, या आपके उद्योग - व्यवसाय को नुकसान हो सकता है. इसीलिए अपने रहस्य किसी के सामने न खोले. निचे खुश बाते लिखी है उन जैसी बातो को आप हमेशा रहस्य बनाये रखे. 
- आपकी अगर कही बेइज्जती हुई हो, तो आप वह किसी को न बताये, आप अपना यह रहस्य अपने पास ही रखे. 
- अगर आप कोई महत्वपूर्ण प्रकल्प पर काम कर रहे हो, तो वह प्रकल्प से जुडी सारी बातो को गोपनीय रखे, नहीं तो प्रकल्प पूर्ण होने में तकलीफ आ सकती है. 
- किसी ने आपको कही हुई बात किसी और से न कहे, इससे आपसे उसका विश्वास उठ जायेगा. 

४- आप किसी व्यक्ति को इस तरह व्यवहार न करने दे की वह आपके पास आता जाता रहे. अक्सर लोग या आपके मित्रगण अपना काम पूर्ण होने पर उस व्यक्ति को पहचान देना भी भूल जाते है. आपका इस प्रकार किसी को फायदा न लेने दे, अपने मित्र सोच समझकर चुने. ऐसा मित्र किस काम का जो आपको उसका काम हो जाने पर पहचान ही न दे?  इस  प्रकार के लोगो से बचे रहे, और सोच समजकर मित्र बनाये.  हंस सिर्फ वहा रहते है जहा पानी रहता है,  पानी सूखने पर वह उस जगह को छोड़ देते है. उसी प्रकार आप किसी भी व्यक्ति को  आपसे इस तरह व्यवहार ना करने दे की वह आपके पास सिर्फ उसके मतलब के लिए आता हो. मित्रता पूर्ण मन से निभाए और मित्र भी अच्छे चुने. 

५- अनपढ़ रहना बहोत गलत बात है. अगर आप चाहते है की आपका और आपके आने वाली पीढ़ियों का भविष्य उज्वल हो तो आपको शिक्षा लेनि ही चाहिए, और वक़्त के अनुसार आये हुए नए नए चीज़ो को भी सीखना चाहिए. शिक्षा से आपको कोई भी गुमराह नहीं कर सकता, शिक्षा से आत्मविश्वास आता है, शिक्षा से निर्णय लेने की क्षमता बढती है. अच्छी शिक्षा लेने से ही आप एक अच्छा घर, एक अच्छा समाज बना सकते है. 

६- अपने घर को और अपने आसपास के परिसर को हमेशा स्वच्छ रखे. घर और परिसर स्वच्छ रखने से आप और आपका परिवार तथा समाज बिमारिओं से दूर रहेगा. गदंगी ना करे ना होने दे.  इससे आप समाज को सुरक्षित और रोगमुक्त रखने के लिए अपना योगदान दे सकते है. आप इस समाज के एक महत्वपूर्ण व्यक्ति है, और आप अपना योगदान और सहयोग से इसे और भी बेहतर बना सकते है. 

७- भाग दौड़ भरी जिंदगी है. सुबह से लेकर शाम तक काम और काम के समय तय रहते है, ऐसे भाग दौड़ में अपने आप पर ध्यान देना तो हम भूल ही जाते है. अपना स्वास्थ तंदुरस्त रखना आपका कर्तव्य है. आपको खुद का खयाल रखना होगा. इसीलिए रोज कमसे कम २० मिनिट तक योग जरूर करे. अपने शरीर को सुदृढ़ बनाये रखे. योग करने से आपको अच्छा महसूस होगा और बुढ़ापे में भी आप तंदुरस्त ही रहोगे, अनेक बीमारियों से दूर रहोगे. हर रोज योग करने से आप बीमारियों को दूर रखने में सफल रहेंगे. 

८- हर चीज़ में कोई ना कोई ख़ास गुण अवश्य होता है. फूलो में खुशबू होती है, गन्ने में गुड़ होता है, दूध में घी होता है, तिल में तेल होता है, उसी प्रकार हर एक चीज़ में कुछ न कुछ महत्वपूर्ण छुपा रहता है. आपमें भी कई गुण और विशेषताएं छुपी हुई होती है, आपको अपने आपको पहचनाना चाहिए। आपके  भविष्य के आप खुद रचेयता है. इसीलिए अपना भविष्य गलत रास्ते पर जाकर बरबाद ना करे. अपनी क्षमताओं का, अपने गुणों का बहोत अच्छे तरह से उपयोग करे और खुद का एक उत्तम भविष्य बनाये. 

No comments:

Post a Comment